Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / प्रशासनिक काम करने वाले डॉक्टरों को इलाज में लगाएं, सीएम योगी का निर्देश

प्रशासनिक काम करने वाले डॉक्टरों को इलाज में लगाएं, सीएम योगी का निर्देश


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रशासनिक काम करने वाले चिकित्सकों को मरीजों के उपचार में लगाने को कहा है। उन्होंने रैंडम चेकिंग बढ़ाने का निर्देश देते हुए कहा कि इसके माध्यम से कोविड-19 के प्रसार की सटीक जानकारी मिल सकती है।

इससे कोरोना के खिलाफ जंग में कारगर रणनीति निर्धारित करने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि एनसीआर के जिलों में संक्रमण को रोकने के लिए बेहतर कार्ययोजना बनाकर उसे लागू किया जाए।

मुख्यमंत्री शनिवार को अपने आवास पर उच्च स्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि संक्रमण से पैदा हुए हालात में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए सभी उपाए किया जाना जरूरी है। उन्होंने डॉक्टरों की पर्याप्त संख्या में उपलब्धता पर जोर दिया।

कहा कि प्रशासनिक कार्य करने वाले चिकित्सकों को मरीजों के उपचार का दायित्व सौंपे जाने पर विचार किया जाए। सीएम योगी ने कहा कि एक लाख की संख्या में निगरानी समितियां स्थापित करने से सर्विलांस व्यवस्था को और सुदृढ़ किया जा सकता है।

कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में यह एक महत्वपूर्ण प्रयास होगा। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग, चिकित्सा शिक्षा विभाग तथा जिला प्रशासन को सर्विलांस सिस्टम को मजबूत करने के निर्देश भी दिए।

उन्होंने रैंडम चेकिंग में वृद्धि करने के निर्देश देते हुए कहा कि इसके माध्यम से कोविड-19 के प्रसार की सटीक जानकारी मिल सकती है। इसके आधार पर कोरोना के खिलाफ जंग में कारगर रणनीति निर्धारित करने में मदद मिलेगी।

बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, स्वास्थ्य राज्य मंत्री अतुल गर्ग और मुख्य सचिव आरके तिवारी समेत वरिष्ठ अधिकारी मौंजूद थे।

About The Dabang News

THE DABANG NEWS पोर्टल जहाँ देश दुनिया की खबरों के साथ साथ आप के हर तकलीफ़ की आवाज़ उठाने वाला एकमात्र चैनल जुड़े रहे हमारे साथ .

Check Also

दुर्गा पुजा पंडाल में खुलेआम असलहा लहराने वाले अभियुक्त को तरवॉ पुलिस ने असलहे के साथ किया गिरफ्तार भेजा जेल ।

🔊 पोस्ट को सुनें लालगंज आज़मगढ़ । सीओ लालगंज मनोज कुमार रघुवंशी के कुशल निर्देशन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!