Breaking News
Home / BREAKING NEWS / खुंभादेवरी में चल रहे यज्ञ के दौरान‌ राम अखंड दास जी महाराज ने कहा- कोई भी धर्म आपस में बैर की शिक्षा नहीं देता

खुंभादेवरी में चल रहे यज्ञ के दौरान‌ राम अखंड दास जी महाराज ने कहा- कोई भी धर्म आपस में बैर की शिक्षा नहीं देता


लालगंज आज़मगढ़ । लालगंज तहसील क्षेत्र के खुंभादेवरी में चल रहे सात दिवसीय यज्ञ के आज पांचवें दिन द्वारिकाधीश अस्सी घाट वाराणसी के महंत राम अखंड दास जी महाराज ने कहा कि कोई भी धर्म आपस में बैर की शिक्षा नहीं देता। उन्होंने कहा धर्म के नाम पर जो झगड़ा फसाद करते हैं वह धर्म के मूल स्वरूप को नहीं जानते। उन्होंने कहा धर्म एक दूसरे का सहयोगी है और आपस में प्रेम का उपदेश देता है। उन्होंने कहा धर्म की बड़ी महत्ता है और समय-समय पर देश काल और परिस्थिति के अनुसार धर्म बदलते रहते हैं। भगवान कृष्ण कहते हैं जहां धर्म है वहां विजय है। धर्म का आचरण हर मानव के लिए उत्कृष्ट है। धर्म से ही समाज उत्थान को प्राप्त होगा तथा धर्म का पालन सदैव सुखदाई होता है। उन्होंने कहा यज्ञ का मूल यह है कि सभी लोग सुख शांति से अपना जीवन व्यतीत करें सबका उत्थान हो, यज्ञ का यही मूल है। उन्होंने कहा यज्ञ के द्वारा वर्षा होती है और वर्षा के द्वारा अन्य प्राप्त होता है। उन्होंने कहा कि सबके कल्याण करने वाले का स्वं कल्याण हो जाता है। संत शीतल दास रामदास भागवत कथाकार ने कहा यज्ञ का अर्थ होता है भगवान का यजन करना। यज्ञ पुरोहित सत्यवान द्विवेदी ने यज के संदर्भ में विस्तृत रूप से जानकारी प्रदान की। उन्होंने कहा कि यज के कई स्वरूप हैं। उन्होंने कहा कि यज्ञ से बादल बनते हैं और बादल से वर्षा होती है और वर्षा से अन्य पैदा होता है। उन्होंने कहा यज्ञ से सभी का कल्याण होता है। अफ्रीका के घाना में रहने वाले मुख्य आयोजन कर्ता संतोष कुमार सिंह ने बताया कि अक्षय तृतीया 3 मई से आरंभ हुआ यह कार्यक्रम 7 दिनों तक चल कर 9 मई को संपन्न होगा। 10 मई को विशाल भंडारे का आयोजन किया जाएगा। इस अवसर पर भूप नारायण सिंह, संतोष कुमार सिंह, अनिल कुमार सिंह, संजय कुमार सिंह, विनय कुमार सिंह, विवेकानंद सिंह, दीपक सिंह, रवि प्रकाश, अनुभव, विनीत कुमार सिंह, ममता सिंह, रामाशंकर सिंह, अखिलेश सिंह, मधुसूदन सिंह, जितेंद्र सिंह, पूर्व प्रधानाचार्य ओमप्रकाश सिंह, श्याम बिहारी सिंह, राजनाथ सिंह, शेषनाथ सिंह मौजूद रहे। व्यवस्थापक राम अवध पांडे ने बताया कि प्रतिदिन 4 लंगर चल रहे हैं। प्रथम साधु संत हेतु, द्वितीय ब्राह्मणों हेतु, तृतीय यज्ञ कर्ता हेतु और चतुर्थ आमजन हेतु प्रतिदिन चार लंगर का आयोजित किये जा रहे हैं।

About The Dabang News

THE DABANG NEWS पोर्टल जहाँ देश दुनिया की खबरों के साथ साथ आप के हर तकलीफ़ की आवाज़ उठाने वाला एकमात्र चैनल जुड़े रहे हमारे साथ .

Check Also

मेंहनगर में शादी का निमंत्रण कार्ड बांटने निकले अधेड़ व्यक्ति सड़क दुर्घटना में घायल, जिला अस्पताल हुआ रेफर

🔊 पोस्ट को सुनें लालगंज आज़मगढ़ । मेंहनगर- छतवारा मार्ग पर शनिवार की सुबह बेटी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Naat Download Website Designer Lucknow

Best Physiotherapist in Lucknow

error: Content is protected !!